Cancer In Hindi { कैंसर }

September 28, 2019 0 Comments

Cancer In Hindi { कैंसर }
source by google

हम सभी जानते हैं कि ब्लड कैंसर एक जानलेवा बीमारी है अगर इसके शुरुआती लक्षणों को पहचान लिया जाए तो काफी हद तक इसका इलाज संभव है | ब्लड कैंसर जैसा कि नाम से ही पता चलता है खून का कैंसर | दुनिया में इस बीमारी से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है अधिकतर लोगों की मौत तो जानकारी के अभाव में भी हो जाती है |जब तक उन्हें इस बीमारी का पता चलता है जब तक मरीज लास्ट स्टेज पर पहुंच चुका होता है इसलिए सबसे पहले आपको इसके लक्षणों की जानकारी होना बहुत जरूरी है जिससे आप इस घातक बीमारी के लक्षणों को पहचान कर समय से इसका इलाज करवा सकें | आइए जानते हैं इसके लक्षणों के बारे में

ब्लड कैंसर के लक्षण

खून का आना

चोट लगने पर खून का आना संभावित है लेकिन बिना वजह अगर बॉडी से खून निकलता है तो यह एक चिंता का विषय है जैसे  नाक ,मुंह टॉयलेट से खून आना आदि अगर आपको ऐसी समस्या हो तो इसे अनदेखा ना करें और तुरंत डॉक्टर से अपने खून की जांच करवाएं |

हाथ पैरों में सूजन

आपके हाथ पैरों और मुंह पर बिना वजह के सूजन आ रही है तो डॉक्टर से चेकअप करवाएं वैसे तो आमतौर पर ल्यूकेमिया  के मरीजों में यह समस्या देखी गई है फिर भी इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुए अपना चेकअप जरूर करवाएं |

बिना वजह पसीना आना

परिश्रम करते समय अगर पसीना निकलता है तो बॉडी के विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं लेकिन बिना परिश्रम किए रात को सोते हुए पसीने का आना ,थकावट रहना, ब्लड कैंसर का एक लक्षण है |अक्सर ल्यूकेमिया के मरीजों का हीमोग्लोबिन तेजी से गिर जाता है | शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी के कारण हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है और हम बिना वजह के ही थकावट महसूस करने लगते हैं |

इंफेक्शन का बार बार होना

बदलते मौसम के कारण सर्दी जुखाम होना, पेट दर्द होना एक आम बात है लेकिन अगर बार बार इन्फेक्शन के आप शिकार हो रहे हैं तो यह एक चिंताजनक बात है क्योंकि शरीर में अगर ब्लड कैंसर के सेल्स पल रहे हो तो यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर बना देते हैं जिसकी वजह से बार-बार इंफेक्शन के शिकार बनते रहते हैं शरीर में बिना वजह नीले या बैंगनी कलर के निशान हो रहे हैं तो तुरंत अपने खून की जांच करवाएं |

ब्लड कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज इतना महंगा है कि अधिकतर लोगों की मौत तो इलाज ना होने की वजह से भी हो जाती है इसलिए बचाव में ही समझदारी है  क्यों ना हम अपनी दैनिक दिनचर्या में ऐसे संतुलित और पोषण युक्त आहार खाएं जिससे यह खतरनाक बीमारी हमारे पास पटक भी ना सके |

ब्लड कैंसर से बचने के घरेलू उपाय

क्या खाएं

ब्लूबेरी

Cancer In Hindi { कैंसर }
source by google

ब्लूबेरी वैसे तो एक फल है लेकिन इसमें कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने की क्षमता होती है | ब्लूबेरी स्किन ,ब्रेस्ट और लीवर  कैंसर से हमें बचाती है अगर इसका नियमित सेवन किया जाए तो हम कैंसर से सुरक्षित रह सकते हैं |आप इसका रस बनाकर भी पी सकते हैं |

अदरक का सेवन

Cancer In Hindi { कैंसर }
source by google

ज्यादातर अदरक का इस्तेमाल सब्जियों का स्वाद बढ़ाने और सर्दियों में इसकी चाय बनाकर किया जाता है लेकिन अदरक का नियमित सेवन करने से यह शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकाल देती है और हमारी बॉडी को प्यूरिफाई भी करती है | यह महिलाओं में होने वाले ब्रेस्ट कैंसर से बचाव करती है क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है |

विटामिन सी युक्त आहार खाएं

अपने दैनिक आहार में विटामिन सी युक्त चीजें जैसे टमाटर, नींबू, आंवला दहि या लस्सी आदि चीजें जरूर खाएं | इससे भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को एक्टिवेट रखते हैं और कैंसर जैसी बीमारियों से बचाते हैं |

ब्रोकली

ब्रोकली को हम ज्यादातर सब्जी बनाकर खाते आए हैं कई लोगों को यह सब्जी खाना पसंद भी नहीं होती लेकिन ब्रोकली  का नियमित सेवन करने से हमारी सेहत को काफी फायदा मिलता है | हफ्ते में तीन बार ब्रोकली को जरूर खाएं ,यह हमें ब्रेस्ट, लीवर और ब्लड कैंसर जैसी बीमारियों से बचाती है | ब्रोकली को हल्का उबालकर स्वाद के लिए हल्का सेंधा नमक डालकर खाएं |

हल्दी वाला दूध

Cancer In Hindi { कैंसर }
source by google

रात को हल्दी वाला दूध पीने से नींद तो अच्छी आती ही है, साथ में यह मोटापा, हृदय रोग और कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी रखता है | हल्दी में एंटीबायोटिक गुण होने के कारण यह त्वचा के कैंसर से बचाता है | हल्दी हमारे रक्त को शुद्ध करती है जो महिलाएं हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी लेती हैं उन महिलाओं में कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है | हल्दी कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकती है इसलिए कैंसर से बचाव रखने के लिए नियमित हल्दी डालकर दूध जरूर पिए |

भरपूर मात्रा में पानी पिए

Cancer In Hindi { कैंसर }
source by google

प्रतिदिन 2 से 3 लीटर पानी का जरूर सेवन करें ,ज्यादा पानी पीने से शरीर के विषैले तत्व यूरिन के जरिए बाहर निकल जाते हैं और हमारे शरीर में विषैले पदार्थ जमा नहीं होते जो बीमारी का कारण होते हैं |ज्यादा से ज्यादा लिक्विड चीजें दही ,लस्सी, रसदार फल, जूस आदि का सेवन जरूर करें | सुबह खाली पेट तांबे के बर्तन का पानी पीने की आदत डालें, तांबे के बर्तन का पानी कैंसर और अन्य बीमारियों से रोकथाम करता है | ब्रेस्ट कैंसर के लिए अनार खाना काफी लाभदायक रहता है अपने डाइट में ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियों का सेवन करें |

क्या ना खाएं

माइक्रोवेव में बनी चीजें ना खाएं

माइक्रोवेव में खाना बनाना आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारी सहूलियत बन गई है लेकिन आप यह नहीं जानते कि यह सहूलियत हमें कितनी महंगी पड़ जाती है  माइक्रोवेव में खासतौर से पॉपकॉर्न बनाने से कैंसर सेल्स पनपते हैं क्योंकि माइक्रोवेव में पॉपकॉर्न बनाने से  परफ्यूरोसटानाइक नामक एसिड पनपता है जो कैंसर की संभावना को कई गुना बढ़ा देता है इसलिए माइक्रोवेव में पॉपकॉर्न बनाने की वजह कुकर या खुले बर्तन में बनाएं |

प्लास्टिक के बर्तन ना यूज करें

कैंसर से बचने के लिए गर्म खाना प्लास्टिक के बर्तनों में ना डालें क्योंकि गर्म चीजें प्लास्टिक के संपर्क में आने से कैंसर सेल्स पैदा करती है इसलिए अगर खाना बाहर से भी लाना पड़े तो प्लास्टिक की पन्नी, डिब्बे की बजाएं घर से बर्तन लेकर जाएं |

मैदे से बनी चीजों से दूर

मैदा या मैदे से बनी कोई भी चीज अपने भोजन में कम से कम यूज करें अगर हो सके तो यूज ही ना करें क्योंकि मैदा पेट में जल्दी से डाइजेस्ट नहीं होता और यह पेट में पड़ा सड़ता रहता है जो कई घातक बीमारियों का कारण बनता है अगर हम मैदे से बने कोई भी चीज खाते हैं तो उसे डाइजेस्ट होने में 2 से 3 दिन लगते हैं इसलिए बाहर का खाना खाने की  बजाय घर पर बना खाना खाने की आदत डालें |

आलू चिप्स ना खाएं

आलू चिप्स खाने में बहुत टेस्टी लगते हैं बच्चे के रोते ही हम उन्हें आलू चिप्स या कोई भी पैकेट बंद चीज दिलवा देते हैं लेकिन क्या आपको पता है आलू चिप्स बनाने में नकली रंग और सोडियम का इस्तेमाल किया जाता है | इनको तलने के लिए हाइड्रोजनइंक्रिप्ट तेल इस्तेमाल किया जाता है जिनकी वजह से उनमें ओमेगा 6 की मात्रा बढ़ जाती है ऐसे आलू चिप्स का इस्तेमाल करने से कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है अगर आपका आलू चिप्स खाने का मन हो तो पैकेट बंद चिप्स खाने की वजह घर पर ही बना कर खाएं | 

सावधानी

कैंसर एक घातक और जानलेवा बीमारी है अगर हम अपने खाने-पीने की आदतों पर ध्यान रखें तो इस बीमारी से काफी हद तक बचा जा सकता है क्योंकि बचाव में ही समझदारी है | 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *